post-thumb

मस्से हटाने के घरेलु उपाय (Masse hatane ke gharelu upay)

हममे से कई लोगों को मस्से (स्किन टैग्स - Skin Tags) हो जाते हैं, किसी को गर्दन पे, किसी को चेहरे पर, हाथ पर, सर पर, किसी को शरीर के बाकी हिस्से पर| असल में, त्वचा पर खुरदुरे सी, त्वचा के रंग की गाँठें बन जाती हैं। इन्हें ही मस्से कहा जाता है| यह बहुत आम त्वचा सम्बंधित समस्या है|

वार्ट्स और मस्सों के बीच अंतर

बहुत से लोग वार्ट्स (Warts) और मस्सों (Skin Tags) के बीच अंतर करने में भ्रमित हो जाते हैं| पर इनमें अंतर होता है| वार्ट्स संक्रमण के कारण होते हैं, और एक से दुसरे को फ़ैल सकते हैं| परन्तु मस्सों के मामले में ऐसा नहीं है|

किसी को एक या एक से अधिक मस्से हो सकते हैं| कुछ लोगों तो बहुत ज्यादा मस्से हो जाते हैं| इनका आकार भी छोटे से लेकर काफी बड़े तक हो सकता है| अगर यह ऐसी जगह हों जो दिखती हो (जैसे चेहरा, हाथ, या गर्दन), तो इंसान की खूबसूरती में भी दाग़ लग सकता है|

इस लेख में हम जानेंगें की मस्से आखिर होते ही क्यों हैं, और इनका घरेलु इलाज क्या है|

(इस लेख में हम जानेंगे - How to remove Skin Tags?, in Hindi)

Table of Contents (in Hindi)
  • मस्से क्यों होते हैं?
  • मस्से हटाने के घरेलु उपाय

मस्से क्यों होते हैं ? (Masse kyun hote hein?)

शरीर के किसी हिस्से में त्वचा जमा हो जाने के कारण मस्सा होता है| यह अक्सर वहां होता है, जहाँ त्वचा घनी होती है, या जहाँ त्वचा की परतें बन रही होती हैं, जैसे की आँखों के नीचे, बगल के हिस्से में, जाँघों पर, स्तनों के नीचे, गर्दन पर, इत्यादि|

मस्से कई कारण से हो सकते हैं, जैसे की:

  • वंशानुगत कारण - अगर आपके परिवार में किसी को मस्से हैं, तो आपको भी उनके होने की संभावना बढ़ जाती है|
  • मोटापा - मोटापे के कारण हमारी त्वचा थोड़ी थुलथीली होकर, आपस में रगड़ खाने लगती है| इसकी वजह से भी मस्से हो सकते हैं|

मस्से त्वचा के अत्यधिक और अप्राक्रतिक विकास के कारण होते हैं| पर यह कैंसर नहीं होते| अतः ज्यादा चिंता की बात नहीं है|

चेतावनी

मस्सों के विपरीत, वार्ट्स वायरस (Human Papillomavirus - HPV) के कारण होते हैं, जो किसी एक इंसान से दूसरे में जा सकता है| अर्थार्थ, यह वायरस संक्रामक होता है। मान लीजिये आप किसी नाई की दूकान में गए और अपना फेशियल करवाया, या किसी से मालिश करवाई, यहाँ तक की हाथ मिलाने से, इत्यादि|

अगर आपको वार्ट्स हुआ है, तो तुरंत किसी त्वचा चिकित्सक (Dermatologist) को दिखाएं| क्यूंकि यह संक्रामक होता है, इसलिए यह आपके शरीर में और जगह भी फैल सकता है| इसकी वजह से आपको दर्द भी हो सकता है| अगर आपको वार्ट्स है, तो यह सुनिश्चित करें की आपके कपडे, कंघे, इत्यादि कोई और इस्तेमाल नहीं कर रहा है| अन्यथा उनको भी वार्ट्स हो सकते हैं|

मस्सों की समस्या इतनी विकट नहीं होती| न तो ये संक्रामक होते हैं, न ही दर्द करते हैं|

मस्से हटाने के घरेलु उपाय (Masse hatane ka gharelu upay)

कुछ लोग मस्सों को घोड़े के बाल इत्यादि से हटाते हैं| परन्तु अगर ठीक से न किया जाये तो यह दर्ददायक हो सकता है| इसलिए हम मस्से हटाने के कुछ सुरक्षित उपाय देखेंगे| इन ज्यादातर उपायों में हमारी कोशिश होती है की मस्से खुद-ब-खुद सूख कर गिर जाएं|

  • रात को लहसुन का लेप मस्से पर लगाएं और सुबह धो लें| रात को सोते हुए लहसुन का लेप न हटे, इसके लिए आप उसे किसी पट्टी या band-aid से ढक सकते हैं| ऐसा कुछ दिन करने से मस्सा हट सकता है| कुछ लोग इस कार्य हेतु प्याज़ के रस, शहद, आदि को भी प्रयोग में लाते हैं|

  • अरंडी का तेल (Castor Oil) भी इस उपयोग हेतु प्रयोग में लाया जाता है| इस तेल से मस्से या तिल पर हल्के-हल्के मालिश करनी होती है| आप इसको रात में लगाकर सो भी सकते हैं| कुछ लोग इस कार्य हेतु बेकिंग सोडा (Baking Soda) को भी प्रयोग में लाते हैं|

अगर आप किसी डॉक्टर के पास जाएंगे, तो भी वो मस्सों को इन्हीं कुछ तरीकों से हटाएंगे, जैसे की:

  • किसी हलके एसिड से बना मलहम लगाकर| (पर ऐसा मलहम सिर्फ मस्से पर ही लगाएं, वर्ना यह आसपास की त्वचा को नुक्सान पंहुचा सकता है)
  • मस्से को जलाकर|

क्यूंकि मस्से वंशानुगत भी होते हैं, अतः इन्हें पूरी तरह से रोकना शायद संभव न हो| परन्तु इनके होने की सम्भावना कम की जा सकती है - अपना मोटापा कम करें, नियमित व्यायाम करें, इत्यादि|

वार्ट्स के प्रकार

वार्ट्स के मामले में अच्छा रहेगा की आप तुरंत किसी अच्छे डॉक्टर को दिखाएं| यहाँ हम आपको इनके बारे में भी थोड़ी जानकारी दे देते हैं|

वार्ट्स के प्रकार (Warts ke prakar)

वार्ट्स कई प्रकार के हो सकते हैं:

  • Flat warts (चपटे वार्ट्स) चिकने, चपटे, और भूरे-पीले रंग वाले होते हैं| यह तिल के आकार के होते हैं। यह बड़ी संख्या में होते हैं, और आम तौर पर चेहरे, हाथों के पीछे या पैरों पर पाए जाते हैं| आमतौर पर इनको बच्चों और युवाओं में देखा जाता है। Flat warts सिर्फ कुछ दवाई खाकर या लेप लगाकर 2-3 महीने में भी झड़ सकते हैं|
  • Common warts (आम वार्ट्स) छोटे, दानेदार होते हैं| यह अक्सर आपके गले, उंगलियों या हाथों पर होते हैं। यह गुच्छे में होते हैं, और गोभी के फूल जैसे दिखते हैं| यह वायरस के कारण होते हैं और स्पर्श से फैलते हैं। इनको सिर्फ लेज़र (laser) से हटाया जा सकता है|
  • Plantar warts हाथों और पैरों में होते हैं| इनको हटाने के लिए इंजेक्शन दिए जाते हैं, जिससे यह वार्ट्स जलकर झड़ जाते हैं| इनको लेज़र (laser) के माध्यम से भी हटाया जा सकता है|
  • Periungual warts हाथों और पैरों के नाखूनों के आस-पास बनते हैं| Plantar warts की तरह ही, इनको हटाने के लिए इंजेक्शन दिए जाते हैं, जिससे यह वार्ट्स जलकर झड़ जाते हैं| इनको लेज़र (laser) के माध्यम से भी हटाया जा सकता है|
Share on:
comments powered by Disqus