post-thumb

आम सर्दी और नज़ले का इलाज कैसे करें (sardi aur najle ke gharelu upay)

इस लेख में हम आम सर्दी के लिए कुछ अच्छे घरेलू उपचारों के बारे में बात करेंगे। ये उपाय आपकी सर्दी के अवधि को छोटा करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

लेकिन इससे पहले कि मैं ऐसा करूं, मैं यहां एक छोटी सी उद्घोष्ना करना चाहता हूं - मैं मेडिकल प्रोफेशनल नहीं हूं। मैं सिर्फ इन चीजों के बारे में बहुत कुछ जानता हूं और आपसे अपने ज्ञान को साझा करना चाहता हूं।

आम सर्दी वास्तव में एक बहुत ही आम समस्या है। इसके होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे बदलता मौसम, एलर्जी और विभिन्न प्रकार के कीटाणु जिनसे आपका अपने दैनिक जीवन में सामना होता है।

तो आइए देखते हैं कुछ प्राकृतिक हर्बल उपचार जिन्हें आप आजमा सकते हैं।

हाइड्रेटेड रहें

हाइड्रेटेड रहना उन सबसे अच्छी चीजों में से एक जो आप कर सकते हैं, और आपने शायद यह सुना भी होगा। सर्दी होने पर आपको काफी तरल पीना चाहिए। अच्छा हाइड्रेशन नाक और गले की परत को मॉइस्चराइज करने में मदद करता है, जिससे बलगम को साफ करना आसान हो जाता है।

सामान्य से अधिक तरल पदार्थ पीने का लक्ष्य रखें। लेकिन कैफीनयुक्त या मादक पेय (alcohol) से बचें क्योंकि वे निर्जलीकरण का कारण बन सकते हैं।

गर्म खारे पानी से गरारे करें

शोध बताते हैं कि दिन में तीन बार गर्म खारे पानी से गरारे करना वास्तव में ऊपरी श्वसन पथ के संक्रमण को रोकने में मदद कर सकता है।

यदि आप इसे सर्दी लगने की शुरुआत में ही कर लेते हैं, तो यह सर्दी को बढ़ने से रोक सकता है।

नेति पॉट (neti pot) का इस्तेमाल करें

नाक के सूखने को रोकने के लिए एक और तरीका है - नेति पॉट। ये एक नाक रिंसिंग (rinsing) डिवाइस है जो किसी भी आयुर्वेदिक तथा नेचुरोपैथी भंडार में आपको आसानी से उपलब्ध हो जायेगा। बस सुनिश्चित करें कि डिवाइस साफ हो और उचित मार्गदर्शन में ही इसका उपयोग करें।

यह भारतीय योग प्रथाओं का हिस्सा है, तथा बहुत ही प्रभावी है, लेकिन इसके प्रयोग में कुशलता पाने में आपको कुछ समय लग सकता है। कुछ योगी अपने नाक के छिद्रों को साफ करने के लिए पानी की बजाय एक पतली रस्सी का भी उपयोग करते हैं।

नेति पॉट में एक गर्म खारे पानी के घोल को भरा जाता है। पानी को एक नथुने में डाला जाता है। उपयोगकर्ता उसके सिर को एक तरफ झुका देता है ताकि पानी दूसरे नाकछिद्र (नथुने) के मार्ग से बाहर निकल सके।

मैं आमतौर पर इस क्रिया को दिन में दो बार करता हूं। इसे आप दिन में तीन या चार बार भी कर सकते हैं। लेकिन इसे इस्तेमाल करने से पहले निर्देशों को अच्छे से समझ लें।

प्याज, लहसुन और शहद का घोल

वैसे तो ठंड के लिए सबसे प्रभावी उपाय बहुत सारा तरल पदार्थ पीने के साथ-साथ पूरा आराम है, लेकिन कई उपाय ऐसे भी हैं जो आपको अपनी रसोई में ही मिल जाएंगे।

एक प्याज लें और इसे काट लें। स्लाइस करने के बाद इसे जार/बर्तन में डाल दें। अब इसमें लहसुन की दो पिसी हुई फांकें, लौंग और एक बड़ा चम्मच शहद मिलाएं। इसके बाद, इसमें आधा कप गर्म पानी मिलाएं।

हो गया, घरेलू उपाय तैयार है। आप इसे कमरे के तापमान पर स्टोर कर सकते हैं और दिन में कम से कम दो से तीन बार इसका सेवन कर सकते हैं। एक बार में दो से तीन चम्मच पी जा सकती हैं। आप इसे पीने के बाद गर्म पानी का सेवन भी कर सकते हैं।

हर्बल औषधिक चाय

हर्बल चाय आपकी ठंड का इलाज करने के साथ ही साथ भारीपन कम करने में भी मदद करती है।

आप दो कप पानी उबाल सकते हैं और इसमें 1/4 चम्मच हल्दी, 1 बड़ा चम्मच शहद, दालचीनी का आधा स्टिक और कुछ अदरक डाल सकते हैं। आप इसमें नींबू की दो बूंदें भी मिला सकते हैं। उसके बाद इसे लगभग सात से दस मिनट तक उबाल सकते हैं, जब तक इसकी मात्रा आधी ना हो जाये।

इससे निकलने वाली सुगंध अद्भुत होगी। इस चाय में अदरक, दालचीनी और शहद हैं जो अपने जलनरोधी, जीवाणुरोधी और एंटीवायरल गुणों के लिए जाने जाते हैं।

आप इस चाय को दिन में दो से तीन बार, या जब भी आप भारी महसूस कर रहे हों, ले सकते हैं।

एयर ह्यूमिडिफायर (humidifier) का प्रयोग करें

यदि आप बहुत शुष्क स्थान पर रहते हैं, तो आप एक एयर ह्यूमिडिफायर का उपयोग कर सकते हैं। ये सर्दियों के महीनों में भी काम आ सकते हैं जब हीटर आपके घर के अंदर की हवा को बहुत शुष्क बना देता है।

यदि आप वास्तव में नम क्षेत्र में रहते हैं तो आपको संभवतः ह्यूमिडिफायर की आवश्यकता नहीं है।

विटामिन सी लें

विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थ जैसे साइट्रस (citrus), हरी मिर्च, कीवी और उस प्रकृति की अन्य चीजें सर्दी में मदद करती हैं।

इनके अलावा, कुछ अन्य काम हैं जो आप कर सकते हैं, जैसे की बार-बार तरल पदार्थ पीना, सूप, चाय, कॉफी, गर्म पानी आदि बार बार लेना, इत्यादि। यह गले के संक्रमण में मदद करता है, जो आमतौर पर ठंड और बहती नाक के साथ हो ही जाता है। इसके अलावा, गर्म तरल पदार्थ लेना बलगम को भी ढीला कर देता है और हमारे लिए इसे बाहर निकालना आसान बनाता है।

अपने आप को गर्म रखने की व्यवस्था करें, विशेष रूप से छाती और गले क्षेत्र को।

उम्मीद है की ये उपाय आपके लिए काफी लाभप्रद्कारी सिद्ध होंगे। आप नीचे टिप्पणी कर सकते हैं और मुझे बता सकते हैं कि आपके पसंदीदा उपाय क्या हैं। शायद मैं और हमारे पाठक अगली बार उन्हें भी आजमाएं।

Share on:
comments powered by Disqus